एलोवेरा (Aloe Vera) के लाभ एवं सावधानियाँ

एलोवेरा (ग्वारपाठा ) को ‘घृतकुमारी ‘ के नाम से भी जाना जाता है I यह स्वास्थ्य के लिए बहुत ही सहज में मिलने वाली उत्तम प्रकार की औषधी है ,जो अनेक रोगों में रामबाण का कार्य करती है Iऐसे तो इस पावन धरा पर अनेकों वनस्पतियाँ , खनिज आदि प्रचुर मात्रा में है , इन्ही वनस्पतियो में ये पौधा एक दिव्य रूप में है जो की आमतौर पर स्वतः ही उगता है और किसी अतिरिक्त वस्तु की मांग भी नहीं करता है  I

इसे आप अपने घर पर लगाकर भी काम में ले सकते है Iएलोवेरा (Aloe Vera) एक ऐसा पौधा आता है जिसको हम अपने घर में लगाकर इसका लाभ लें सकते है और इसको लगाने के बाद इसमें ज्यादा पानी की आवश्यकता नहीं होती तथा किसी प्रकार की कीटाणु – रोधी दवाओं की भी जरुरत नहीं होती क्योकि ये पौधा अपने आप में ही एक कीटाणु रोधी है I

सामान्य तौर पर इसे थोड़ा पानी से सींच कर तथा अच्छी मिट्टी में लगाकर इस दिव्य पौधे का घर बैठे लाभ ले सकते है I इस पौधे को लगाने से वहाँ का वातावरण भी सही होता है तथा कीटाणु भी नहीं पनपते Iइसको सभी अपने अनुरूप काम में लेते है एवं एलोवेरा (Aloe Vera) को अनेकों रूपों में काम में लिया जाता है जैसे :-
– एलोवेरा रस अथवा जूस के रूप में
– एलोवेरा की सब्जी या कोई अन्य खाद्य वस्तु बनाकर
– एलोवेरा को छीलकर सीधे ही उपयोग में

एलोवेरा (Aloe Vera) के लाभ :-
– एलोवेरा जूस बहुत ही अच्छे प्रकार का रक्त शोधक है , इससे शरीर में रक्त शुद्ध होकर के रोग-प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है I
– एलोवेरा जूस से कोलेस्ट्रॉल नियंत्रण में रहता है I
– यह डायबिटीज के रोगियों के लिए लाभकारी है I
– एलोवेरा का नियमित सेवन दर्द तथा सूजन में राहत प्रदान करता है I
– एलोवेरा जूस मोटापा घटाकर वजन को नियंत्रित करता है I
– एलोवेरा सेवन से पाचन तंत्र मजबूत होता है I
– एलोवेरा के गुद्दे को छिलका हटाकर चेहरे पर लगाया जाए तो इससे मुहांसे दूर होते है एवं त्वचा पर निखार (Beauty) आता है I
– एलोवेरा रस को सर में लगाने से डैंड्रफ दूर होकर बाल काले ,घने ,चमकदार बनते है I
– एलोवेरा गुद्दे को त्वचा पर मलने से त्वचा साफ़ , स्निग्ध ,सौम्य बनती है I
– एलोवेरा के सेवन करने से कब्ज रोग दूर होता है I
– एलोवेरा के सेवन से तनाव कम होता है तथा शरीर में ऊर्जा महसूस होती हैI
– एलोवेरा का सेवन मधुमेह रोगियों के लिए भी हितकर है I

एलोवेरा (Aloe Vera) उपयोग में सावधानियाँ :-
– अधिक मात्रा में एलोवेरा का सेवन करने से दस्त हो सकते है I
– पेट दर्द व अल्सर की समस्या में इसका सेवन नहीं करना चाहिए I
– गर्भवती महिलाओँ को एलोवेरा का सेवन नहीं करना चाहिए I
– नवजात शिशु को स्तनपान कराने वाली माता को भी इसका सेवन नहीं करना चाहिए I
– जब किसी प्रकार की कोई दवाई चल रही हो तो चिकित्सक के परामर्श से ही इसका सेवन करें I
– 13 वर्ष से कम आयु के बालक को इसका सेवन नहीं करवाना चाहिए I
– एलोवेरा रस का सेवन करने पर यदि किसी प्रकार की कोई समस्या या कठिनाई आये तो उन्हें इसका सेवन नहीं करना चाहिए एवं तुरंत चिकित्स्कीय परामर्श लें I







Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *